गुजरात दंगों में न तो हिंदू को इंसाफ मिला न मुसलमान को बल्कि दंगा करवाने वाले दिल्ली पहुंच गए- जिगनेश मेवानी

कोई टिप्पणी नहीं


27 फरवरी को गोधराकांड के 15 साल पूरे हो जाएंगे। गोधराकांड के बाद गुजरात में जो दंगे हुए उसको देश अभी तक भुला नहीं पाया है। गुजरात ने दंगों के दौरान जो कुछ सहा है वह दोबारा ना हो उसके लिए गुजरात के साथ-साथ पूरे देश के अमनपसंद लोग इसकी कोशिश में रहते हैं।


गुजरात के युवा क्रांतिकारी नेता जिग्नेश मेवानी ने गुजरात और देश की आम जनता से अपील की है कि, वह देश के संविधान पर विश्वास करें और धर्म की राजनीति करने वाले नेताओं से दूर रहें।
जिग्नेश ने फेसबुक पर एक वीडियो अपलोड कर कहा है कि, गोधरा कांड में जो हिंदू भाई-बहनों की मौत हुई न तो उनको इंसाफ मिला और न ही उसके बाद हुए दंगों में जिन मुसलमान भाई-बहनों की मौत हुई उनको इंसाफ मिला। साथ ही जिग्नेश ने कहा कि जिन लोगों ने दंगों पर राजनीति की वह राज्य से देश की राजनीति में पहुंच गए।


जिग्नेश ने कहा कि, जिन लोगों ने दंगों में अपने लोगों को खोया उनकी हालत आज भी बहुत खराब है। दंगों के बाद मुसलमान जिन बस्तों में रह रहे हैं वहां की हालत बहुत खराब है। न साफ पीने का पानी है, ना ही उनके बच्चों के लिए सही पढ़ाई का कोई इंतजाम है और ना वहां पर अस्पताल है।
जिग्नेश ने संविधान का हवाला देते हुए कहा कि हमें अपने देश के संविधान पर विश्वास रख उसके अनुसार चलना चाहिए। जो हमें सेक्यूलर और समाजवाद की राह दिखाता है। जहां धर्म की राजनीति करने वालों की कोई जगह नहीं है।
Source: http://boltahindustan.com/jignesh-mevani-said-beware-from-communal-politicians/

कोई टिप्पणी नहीं :

एक टिप्पणी भेजें