आदिवासी मानवाधिकार कार्यकर्ता सोनी सोरी पर तेजाब फैंका

कोई टिप्पणी नहीं
आदिवासी शिक्षाका सोनी सोरी, जो की मानवाधिकार कार्यकर्ता भी हैं पर शनिवार रात को अज्ञात लोगो ने बस्तर के पास कोडेनार में तेजाब से हमला कर दिया।



सोनी सोरी पर जब हमला किया जब वो बंजारिन घटी से शनिवार रात को लौट रही थी। उनको गीदम अस्पताल , जगदलपुर में भरती करवाया गया हैं।

सोनी सोरी को आदिवासियों के मुद्दों को उठाने की वजह से काफी धमकिया मिल रही थी। आदिवासियों के उद्धार के लिए काम-करते करते उन्होंने कई दुसमन पाल लिए थे।


सोनी सोरी ने बस्तर से ही 2014 के लोकसभा चुनावो में आम आदमी पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ा था लेकिन वो चुनाव नहीं जीत पाई थी। 2011 में सोनी सोरी को नक्सलवादियो की मदद करने के आरोप में गिरिफ्तार किया था जिनमें से ज्यादातर मामलो में वह बरी हो चुकी हैं।

यह भी पढ़ें :-
1. त्तीसगढ़ सरकार ने वन भूमि पर आदिवासी अधिकार रद्द किये
2. निचोड़ कर जांच करी कि यह लडकियां शादी शुदा हैं या नहीं

कोई टिप्पणी नहीं :

एक टिप्पणी भेजें