रायबरेली में खुलेआम जंगलराज, दलित युवक को जान से मारा

कोई टिप्पणी नहीं
मृतक नीरज अस्पताल में 
यह फोटो और नीचे लिखा हुआ विवरण एक पाठक ने हमारे पेज पर पोस्ट किया हैं। घटना की गंभीरता को देखते हुईए मुझे इसे यहा पोस्ट करना पड़ रहा हैं। क्योंकि देश के मीडिया के पास इतना वक़्त नहीं हैं की इस गरीब दलित के लिए एक भी मिनट निकाल पाये।

यह फोटो उत्तर प्रदेश के रायबरेली जनपद के लालगंज थानांतर्गत गरडियन का पुरवा गांव के नीरज पासी की है। अब यह नवयुवक इस दुनिया में नही रहा। 28 अगस्त 2015 को दबंग ठाकुरो ने लालगंज रेल कोच फैक्टरी के गेट पर पटरा और बल्ली से नीरज बेरहमी से पीटा था।

लखनऊ मेडिकल कॉलेज में 1 सितम्बर 2015 को नीरज की मौत हो गयी। नीरज का कसूर सिर्फ इतना था कि वह 28 अगस्त को ही अपने गांव के लड़के के पक्ष में मुआवजा की मांग कर रहा था जिसकी उसी सुबह ट्रक दुर्घटना में मृत्यु हो गयी थी।

एक दलित लड़के का यूँ अपने हक की आवाज उठाना ठाकुरो को नागवार गुजरा। इसलिये उन्होंने हक की आवाज को खामोश कर दिया। पुलिस का रवैया इस मामले में बेहद शर्मनाक रहा है। 2 सितम्बर की FIR के बाद भी अब तक किसी भी नामजद आरोपी को उठाया नही गया है। सीओ लालगंज सहित पूरा महकमा नीरज की मौत को दुर्घटना साबित करने पर तुला हुआ है। पुलिस की लापरवाही के चलते आरोपी खुलेआम घूम रहे हैं व् पीड़ित परिवार के बचे सदस्यों को धमका रहे हैं।

यह भी पढ़ें :-
1. बाराबंकी में दलितों को मंदिर में पूजा करने से रोका
2. उत्‍तर प्रदेश में पी.सी.एस से चुनकर आई दलित महिला अफसर का हो रहा उत्‍पीड़न
3. UP में खाप पंचायत का आदेश, बदला लेने के लिए दलित बहनो का बलात्कार करो
4. मजदूरी मांगने गई दलि‍त सास-बहू को दबंग ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा

कोई टिप्पणी नहीं :

एक टिप्पणी भेजें