ऊंची जाति के छात्र करते हैं दलित छात्रो की पिटाई, कहते हैं उन्हें नहीं है पढ़ने का हक

कोई टिप्पणी नहीं
उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले के छुटमलपुर कस्बे में स्थित एक कॉलेज में दलित उत्पीड़न का मामला सामने आया है। यहां दलित छात्रों के साथ ऊंची जाति के विद्यार्थी मारपीट करते हैं। यही नहीं, उन्हें पढ़ाई करने से रोकने के लिए क्लास में घुसने भी नहीं दिया जाता है। उनका कहना है कि दलितों को पढ़ने का कोई अधिकार नहीं है। वहीं, इस बाबत कॉलेज प्रशासन से शिकायत भी की गई, लेकिन हर बार मामला शांत करा दिया जाता है। सोमवार को पीड़ित छात्रों ने जिला विद्यालय निरीक्षक ऑफिस में जमकर हंगामा किया।
जानकारी के मुताबिक, छुटमलपुर में एएचपी इंटर कॉलेज है। यहां अलग-अलग जाति और धर्म के करीब चार हजार छात्र पढ़ते हैं। इस क्षेत्र के कई गांव जैसे फतेहपुर, भादो, अलावलपुर, कमालपुर, अलीपुर, संभालकी, मांडूवाला, औरंगाबाद, रजापुर, कलालहटी, निवादा और चमारीखेड़ा में रहने वाले दर्जनों दलित छात्रों ने सोमवार को जमकर हंगामा किया। उनका कहना है कि करीब तीन महीने से इस कॉलेज में जातिवाद और भेदभाव को बढ़ावा दिया जा रहा है।

आरोप है कि कॉलेज में उच्च बिरादरी के छात्र दलित और मुस्लिम स्टूडेंट्स के साथ आए दिन मारपीट करते हैं। यही नहीं, जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल कर उन्हें अपमानित भी करते हैं। उनका कहना है कि दलितों को पढ़ाई करने का कोई अधिकार नहीं है। यह कॉलेज एक जाति विशेष का है और सिर्फ वही लोग यहां पढ़ाई कर सकते हैं।

प्रदर्शन कर रहे एक छात्र ने बताया कि इस बाबत जब कॉलेज प्रशासन से शिकायत की गई तो उन्होंने समझा-बुझाकर मामला शांत करा दिया। इसके बावजूद यहां दलित छात्रों का उत्पीड़न जारी है। छात्रों ने चेतावनी देते हुए कहा है कि यदि उनके साथ अन्याय बंद नहीं हुआ हुआ तो सड़कों पर उतरकर आंदोलन करेंगे। 


यह भी पढ़ें:-

1. दर्न्दिगी की हदें पार, 13 साल की दलित लड़की से समूहिक बलात्कार के बाद आँखें निकाली
2. बाराबंकी में दलितों को मंदिर में पूजा करने से रोका
3. रायबरेली में खुलेआम जंगलराज, दलित युवक को जान से मारा
4. उत्‍तर प्रदेश में पी.सी.एस से चुनकर आई दलित महिला अफसर का हो रहा उत्‍पीड़न

कोई टिप्पणी नहीं :

एक टिप्पणी भेजें