दलितों पर अत्याचार नहीं रोक पा रही राजस्थान सरकार

कोई टिप्पणी नहीं
राजस्‍थान सरकार की जन विरोधी नीतियों को लेकर मंगलवार (29/09/2015) को दौसा में बसपा के कार्यकर्ताओं ने कलक्ट्रेट पर धरना प्रदर्शन किया। 
पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष भगवानसिंह बाबा, जिलाध्यक्ष रामकिशन जाटव सहित जिले के सैकड़ों कार्यकर्ता पहुंचे।  बसपा पदाधिकारियों ने सरकार पर दलितों पर हो रहे अत्याचारों को रोक पाने में नाकाम रहने के आरोप लगाए। 
पार्टी पदाधिकारियों ने सरकार के निजीकरण योजना का विरोध करते संविदा पर सेवानिवृत कर्मचारियों की पुनः नियुक्ति का विरोध किया। बसपा ने आऱोप लगाए कि सरकार ऐसा कर बेरोजगारी मिटाने के वायदे से पलट रही हैं। बसपा ने विधानसभा व सड़क पर आंदोलन करने की चेतावनी दी हैं। 
प्रदेशाध्यक्ष बसपा भगवानसिंह बाबा ने कहा कि राजस्‍थान का गृह विभाग सुस्‍त हो गया है। दलितों पर अत्‍याचार और अपमान की दर्जनों घटनाओं के बावजूद कोई संज्ञान नहीं ले पाया है. यह गृहमंत्री की कमजोरी दर्शाता है। 
वहीं बसापा के दौसा जिलाध्‍यक्ष रामकिशन जाटव ने कहा कि अगर राजस्‍थान सरकार दलितों के विरोधी रुख को ही अपनाये रही तो इसके गंभीर परिणाम भुगतने होंगे।

कोई टिप्पणी नहीं :

एक टिप्पणी भेजें