प्रतिमा क्षतिग्रस्त, ग्रामीणों ने लगाया जाम

कोई टिप्पणी नहीं
बोझी (मऊ) : घोसी कोतवाली क्षेत्र के अमिला के अकटहा दलित गांव में सोमवार की सुबह डाक्टर भीम राव अंबेडकर की टूटी प्रतिमा को देखकर ग्रामीण आक्रोशित हो उठे। क्षुब्ध लोगों ने अमिला-बोझी व अमिला-लाटघाट मार्गों पर सुबह आठ बजे जाम कर दिया। इससे दोनों सड़कों पर तीन घंटे तक आवागमन बाधित रहा।

राहगीरों को काफी दुश्वारियों का सामना करना पड़ा। जाम की सूचना मिलते ही मौके पर घोसी एसडीएम साहब लाल, सीओ वंशीधर मिश्रा व कोतवाल राकेश जायसवाल अपने हमराहियों के साथ मौके पर पहुंच गए। अधिकारियों ने आरोपी को गिरफ्तार कर उस पर कानूनी कार्रवाई तथा प्रतिमा की मरम्मत करने का आश्वासन दिया। तब जाकर लोगों ने जाम को समाप्त किया।

अमिला कस्बा से पश्चिम अकटहा दलित बस्ती के चौक पर लगी अंबेडकर प्रतिमा के एक हाथ की अंगुली अराजक तत्वों ने रविवार की देर रात किसी समय तोड़ दी। सोमवार की सुबह लगभग छह बजे चौराहे पर लोग चाय पीने पहुंचे तभी उनका ध्यान वहां लगी अंबेडकर प्रतिमा पर गया। प्रतिमा क्षतिग्रस्त होने की सूचना जंगल में आग की तरह पूरे गांव में फैल गई। जिसने भी खबर सुनी, आक्रोशित हो उठा।

लगभग आठ बजे सैकड़ों की संख्या में महिलाएं व पुरुष चौक पर पहुंच गए और उन्होंने अमिला-बोझी व अमिला-लाटघाट दोनों मार्गों पर चक्का जाम कर दिया तथा नारेबाजी करने लगे। सूचना पाते ही घोसी कोतवाल राकेश जायसवाल अपने हमराहियों के साथ मौके पर पहुंचे और जामकर्ताओं को समझाने का काफी प्रयास किए लेकिन आक्रोशित लोगों ने कोतवाल की कोई बात नहीं मानी और उच्चाधिकारियों को मौके पर बुलाने के जिद पर अड़े रहे।

इसके बाद मौके पर पहुंचे सीओ घोसी और एसडीएम ने जब आरोपी को जल्द गिरफ्तार करने और पिकेट पर तैनात पुलिस वालों के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन दिया तो तीन घंटे बाद आक्रोशित ग्रामीण शांत हुए और जाम को समाप्त कर दिया। जाम के समाप्त होने के बाद यात्रियों ने राहत की सांस ली।

अराजक तत्वों पर मुकदमा

घोसी : कोतवाली पुलिस ने अमिला में पश्चिमी तिराहे पर डा. अंबेडकर की प्रतिमा क्षतिग्रस्त होने के मामले में सोमवार की दोपहर मुकदमा दर्ज कर लिया है। अकटहवां निवासी सुग्रीव की तहरीर पर अज्ञात अराजक तत्वों के विरुद्ध प्राथमिकी पंजीकृत होने के बाद पुलिस उनकी तलाश में है।

कोई टिप्पणी नहीं :

एक टिप्पणी भेजें