दलितों के नरसंहार को लेकर दलित संगठनो ने मोदी को लिखा नाराज़गी भरा पत्र

कोई टिप्पणी नहीं
जैसा की मैंने इस ब्लॉग पर रणवीर सेना द्वारा बिहार में दलितों के नरसंहार और कैसे बीजेपी (BJP) के कुछ बड़े नेता रणवीर सेना की मदद कररहे थे। इसका खुलासा कोबरा पोस्ट ने एक स्टिंग ऑपरेशन में किया था। इस स्टिंग ऑपरेशन में बीजेपी नेता मुरली मनोहर जोशी, सी.पी. ठाकुर, यशवंत सिन्हा  और पूर्व प्रधान मंत्री चन्द्रशेकर का नाम लिया था और कहा था की इन्होने किस तरह रणवीर सेना को दलितों की हत्या के लिए उकसाया था। 
इसी स्टिंग ऑपरेशन का हवाला देते हुए ब्रिटेन में दलित अधिकारों के कुछ बड़े पैरोकार समूहों ने बिहार में दलितों के संहार पर कार्रवाई न करने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कड़ी आलोचना की है। बिहार विधानसभा चुनावों से पूर्व न्यूज पोर्टल कोबरा पोस्ट की एक अंडरकवर फिल्म जारी होने पर ब्रिटेन के दलित संगठनों ने सोमवार को प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखा है।
इस पत्र पर दलित सोलिडारिटी नेटवर्क की ओर से मीना वर्मा, फेडरेशन ऑफ अंबेडकराइट के अरुण कुमार, यूके के बौद्ध संगठन, कास्टवाचयूके के देवेंदर प्रसाद और साउथ एशिया सोलिडारिटी ग्रुप के अमृत विलसन के दस्तखत हैं।
पत्र में लिखा गया है कि वह लोग बिहार में दलितो के साथ हो रही भयावह घटनाओं से स्तब्ध हैं। पत्र में दावा किया गया है कि बिहार में दलितों के नरसंहार को लेकर हाल ही में नए खुलासे हुए हैं। लेकिन अब तक प्रधानमंत्री ने हत्यारों के खिलाफ कुछ कहा है और ना ही उनके खिलाफ कोई कार्रवाई की है। पत्र में भारतीय जनता पार्टी के ठाकुर नेता गिरिराज सिंह के उस बयान का भी उल्लेख किया हैं जिसमें उन्होंने एक अभियुक्त को बिहार का गाँधी कहा था। यह अभियुक्त रणवीर सेना का प्रमुख रहा था। 
यह भी पढ़ें:-
दलितों का नारशंहार करने वाली रणवीर सेना को BJP के कई नेता कर रहे थे मदद

कोई टिप्पणी नहीं :

एक टिप्पणी भेजें