राजस्थान में दलित RTI कार्यकर्ता को गंजा कर पेशाब पिलाया

कोई टिप्पणी नहीं
राजस्थान में डांगावास में दलितों के खिलाप हुए नरसंहार के घाव अभी भरे भी नहीं हैं कि दलितों के खिलाप हिंसा की एक और घटना सामने आई हैं। राजस्थान के जैसलमेर में शनिवार शाम एक RTI कार्यकर्ता पर ना सिर्फ जानलेवा हमला हुआ बल्कि उसे गंजा कर जबरन पेशाब भी पिलाई गई।  गंभीर हालत में उसे अस्पताल जे जाया गया जहां से उन्हें जोधपुर रेफर कर दिया गया।

पीड़ित बाबूराम मेघवाल ने कहा कि जब वो जैसलमेर से रामगढ़ अपने घर लौट रहा था तब बोलेरो पर सवाल करीब 12 लोगों ने मिलकर उसे अगवा कर लिया। फिर उसे इंदिरा गांधी कनाल पर ले गए। वहां मेघवाल को जमकर पीटा, उसे गंजा किया और जबरन पेशाब पिलाया गया। लेकिन इससे पहले कि वो लोग मेघवाल को नहर में फेंकते, सामने से कुछ लोग आते हुए दिखाई दिए। डर के मारे नकाबपोश गुंडे मेघवाल को वहीं छोड़ फरार हो गए।

दलित शिक्षक और RTI कार्यकर्ता बाबूराम लंबे समय से राजस्थान के रामगढ़ कस्बे में भू-माफियों के खिलाफ आवाज उठा रहे हैं। उनके मुताबिक भू-माफिया से बार बार उन्हें धमकी मिल रही थी। घटना से एक दिन पहले शुक्रवार को भी उन्हें धमकाया गया था। लेकिन उन्होंने साफ कर दिया है कि वो अपनी जंग जारी रखेंगे। 

पुलिसकर्मी जेठा राम ने कहा कि थाने में मामला दर्ज कर लिया गया है और आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए सर्च ऑपरेशन भी शुरू हो गया है।

मेघवाल समुदाय के लोगों ने बाबूराम पर जानलेवा हमले के विरोध में सड़क पर चक्का जाम कर दिया। प्रदर्शनकारियों ने जबरन दुकानें भी बंद कराई।  मामले की गंभीरता को देखते हुए एसपी राजीव पचर, एडिश्नल एसपी पीडी दहिया और मोहनगढ़ के एसएचओ मानकराम रामगढ़ गए और लोगों को समझा-बुझाकर मामला शांत करवाया।  हालांकि इलाके में मौजूद तनाव के मद्देनजर अतिरिक्त सुरक्षा बल को भी तैनात किया। 

कोई टिप्पणी नहीं :

एक टिप्पणी भेजें