चारपाई पर दलित महिला बैठी तो दी गालियां, विरोध करने पर जूतों से पीटा

कोई टिप्पणी नहीं
उत्तर प्रदेश के ललितपुर जिले में दलित महिला को गांव के दबंगों ने लाठी-डंडों और जूतों से पीट दिया। महिला का कसूर सिर्फ इतना था कि वह रिश्तेदारों के साथ चारपाई पर बैठी हुई थी। यह घटना ललितपुर जिला मुख्यालय से करीब 75 किलोमीटर दूर सौजना थाने के तहत गौना कुस्माड गांव में हुई।

पीड़ित महिला ने बताया कि रिश्तेदार घर आए थे, जिनके साथ वह घर के बाहर चारपाई पर बैठी थी। आरोप है कि इस दौरान अगड़ी जाति के दबंग वहां आए। उन्होंने दलित महिला को चारपाई पर बैठा देख जातिसूचक गालियां दीं और विरोध करने पर महिला को लाठी-डंडों से पीटा। रिश्तेदारों ने विरोध किया तो उन्हें भी पीटा गया। महिला का ये आरोप भी है कि दबंगों ने जूतों से उसकी पिटाई की। फिर चारपाई पर दोबारा न बैठने की नसीहत देकर सभी वहां से चले गए।
पीड़ित पर ही कर दी कार्रवाई
महिला के मुताबिक उसने जिला प्रशासन से मदद की गुहार लगाई थी। जिसके बाद पुलिस ने आरोपियों के अलावा उसके खिलाफ भी कानूनी कार्रवाई कर दी है। वहीं, सौजना थाने के एसओ शमीम खान ने कहा, 'इस तरह की घटना नहीं हुई है। दोनों पक्षों में मामूली मारपीट हुई थी। इसलिए दोनों पर ही शांतिभंग की आशंका की धाराओं के तहत कार्रवाई की गई है।' बता दें कि झांसी के सेकरा गांव में दलित महिला को जूतों से पीटने के मामले में भी पुलिस का कहना था कि ये छोटी-मोटी मारपीट की घटना थी।

कोई टिप्पणी नहीं :

एक टिप्पणी भेजें