'डायन' होने के शक में आदिवासी महिला को निर्वस्त्र कर सिर काट डाला

कोई टिप्पणी नहीं
असम में 63 साल की एक महिला को भीड़ ने 'चुड़ैल' होने के शक में पहले नंगा किया फिर सिर काटकर हत्या कर दी। यह घटना सोमवार को हुई। पुलिस ने इस क्रूर हत्या के संबंध में सात गांववालों को गिरफ्तार किया है।रिपोर्ट के मुताबिक, यह घटना असम के बिश्वनाथ चरैली के पास भूमाजूली गांव में हुई। मृत महिला की पहचान आदिवासी पोनी ओरांग नाम से हुई है।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक समद हुसैन ने बताया कि देवी होने का दावा करने वाली अनीमा रोंघंती (35 साल) ने लोगों को पास के एक मंदिर में इकट्टा होने को कहा। उसने लोगों को बताया कि ओरांग एक चुड़ैल है और वह गांव में दुर्भाग्य लाएगी। इसके बाद भीड़ ओरांग के घर में घुस गई और उसे बाहर निकाल लाई। इसके बाद पास की एक नदी के पास उसे लगभग पूरा नंगाकर ले जाकर, दिन के उजाले में ही उसका गला काटकर हत्या कर दी।
रिपोर्ट के मुताबिक, महिला की मौजूदगी को गांव में लोगों के बीमार पड़ने का कारण माना जाता था। इस घटना के बाद स्थानीय आदिवासी और कारवी समुदाय में तनाव की स्थिति पैदा होने के बाद स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए अतिरिक्त पुलिस व्यवस्था का इंतजाम किया गया है।

कोई टिप्पणी नहीं :

एक टिप्पणी भेजें