दलितों को छात्रवृत्‍ति देने के नाम पर एक करोड़ से ज्‍यादा का गबन

कोई टिप्पणी नहीं
बिहार, नवादा जिला कल्याण विभाग में महादलितों को छात्रवृत्ति देने के नाम पर करोड़ रुपए से ज्‍यादा के गबन का मामला सामने आया है. जिला जदयू अध्यक्ष जीवन लाल चन्द्रवंशी का आरोप है कि फर्जी नामों पर छात्रवृत्‍ति पास कर एक करोड़ तीन लाख रुपए की हेराफेरी की गई.
आरोप है कि छात्रवृत्ति एक ही जाति के महादलित छात्रों को दी गई।  साथ ही लाभ लेने वाले लोगों के सरनाम में रविदास की जगह चमार लिखा गया है।  राजवंशी के नाम की जगह रजवार लिखा गया है जो कि गलत है। 
इस बारे मे जिला जदयू अध्यक्ष द्वारा जिलास्तर के अधिकारियों से जांच की मांग की गई, लेकिन इसका कोई लाभ नहीं मिला। 
अंत में मुख्यमंत्री को उन्‍होंने ज्ञापन दिया है. उस ज्ञापन के आधार पर मुख्यमंत्री ने मामले की जांच करने का आदेश दिए हैं।  स्थानीय तौर पर अतिरिक्त समाहर्ता के नेतृत्व में मामले की जांच शुरू कर दी गई है। 
इस जांच में नरहट, सिरदला, मेसकौर और अन्य प्रखंड़ों में फर्जी नामों पर छात्रवृत्‍ति दिए जाने का मामला उजागर हुआ है।  अबतक मात्र तीन चार प्रखंड़ों से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार गबन का आरोप सही पाया गया है।  इस बारे मे जिला कल्याण पदाधिकारी ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। 

कोई टिप्पणी नहीं :

एक टिप्पणी भेजें