स्कूल में लगे नल से पानी पीने पर प्रधानाचार्य ने दलित छात्र को बेरहमी से पीटा

कोई टिप्पणी नहीं
दलितों को सम्मान दिलाने के लिये भले ही कई दल आगे आकर लड़ाई लड रहे हो लेकिन हकीकत में आज भी दलितों को उच्च जाति के लोगों के आगे सम्मान नही मिल रहा है। इसका जीता जागता उदाहरण उत्तर प्रदेश के बुन्देलखण्ड में झांसी जनपद के थाना मऊरानीपुर इलाके का नजर में आया है, जहां एक स्कूल में नल से पानी पीने पर दलित छात्र को स्कूल के प्रधानचार्य ने ही अपमानित करते हुये बेरहमी से पीटा और भगा दिया। पीड़ित छात्र अपने पिता के साथ इसकी शिकायत लेकर आज तहसील दिवस में पहुंचा और शिकायत करते हुये न्याय की गुहार लगाई। 

उत्तर प्रदेश के झांसी जनपद के थाना मऊरानीपुर इलाके में स्थित दीपक मेमोरियल गर्ल्स इण्टर कालेज में मोहल्ला गांधीगंज निवासी दिनेश कुमार अहिरवार का बेटा मोहित पढता है। दिनेश कुमार आज अपने बेटे मोहित को रोते कराहते हुये लेकर मऊरानीपुर तहसील दिवस पहुंचा, और वहां उपस्थित उपजिलाधिकारी को शिकायती पत्र देते हुये स्कूल के प्रधानचार्य पर आरोप लगाया कि आज सुबह उसका बेटा स्कूल में पढने गया हुआ था, प्यास लगने पर वह स्कूल में लगे नल से पानी पीने चला गया, बस फिर क्या था नल से दलित छात्र को पानी पीते देख स्कूल के प्रधानचार्य ने उसे पकड़ लिया और अपमानित करते हुये कहा दलितों के लिये स्कूल में नल अलग लगा हुआ है उन्हे वहां पानी पीने जाना चाहिये, इस नल पर उच्चजाति के बच्चे ही पानी पीते है। 

जब प्रधानाचार्य का मन अपमानित करने से भी नही भरा तो उन्होनें छात्र की बेरहमी से पिटाई कर दी और स्कूल से भगा दिया। स्कूल से घर आने के बाद उसके बेटे ने उन्हे पूरी हकीकत से अवगत कराया। इस मामले को लेकर जब मऊरानीपुर थाना प्रभारी विक्रम सिंह से जानकारी ली गयी तो उन्होनें बताया कि पीड़ित पहले उनके पास न आकर सीधा तहसील दिवस पहुंच गया था। मामला संज्ञान में आने के बाद ही तुरन्त कार्यवाही शुरू कर दी गयी है।

कोई टिप्पणी नहीं :

एक टिप्पणी भेजें