ऊंची जाति की लड़की को प्रेम पत्र लिखने की वजह से दलित लड़के की हत्या

कोई टिप्पणी नहीं
एक दलित लड़के की निर्ममता पूर्वक कुचल कर हत्या करदी गयी। उस का कुसूर सिर्फ इतना था के उससे एक ऊँची जाती की लड़की से प्यार हो गया था और वह उससे प्रेम पत्र देने उस लड़की के घर गया था। यह घटना कर्नाटक में बागलकोट जिले के मिरजी गाँव की हैं। 

लड़की के पिता, भाई अवं एक अन्य रिश्तेदार घटना के बाद से फरार हैं। दलित लड़का जिस की 1  जुलाई को हत्या हुई हैं उस का नाम अनिल परशुराम मेथ्री हैं, उस की उम्र मात्र 17 थी। लड़के के माता-पिता पर भी जान लेवा हमला हुआ था तथा उन का इलाज़ एक सरकारी अस्पताल में चल रहा हैं। 

पुलिस के अनुसार दलित लड़का और ऊँची जाती की लड़की पास के कस्वे में एक ही क्लास में पढ़ते थे वह उन् दोनों की दोस्ती हुई जो आगे चल कर प्यार में बदल गयी। 1 जुलाई को शाम के 8 :30 बजे अनिल चोरी से लड़की के घर गया और खिड़की से लड़की को प्रेम पत्र दे रहा था तभी उसे भाई अवं पिता ने रगे हाथो पकड़ लिया। 

पत्र को पढ़ कर लड़की का भाई नाराज़ हो गया और लकड़ी के एक डंडे से लड़के के सिर में मार दिया। फिर उससे अपने घर के पिछवाड़े में एक खम्बे से बांध दिया और खूब पिटाई की। यह सुन के की उन् के बेटे को पकड़ के पिता जा रहा हैं उस के माँ -बाप लड़की के घर पहुंचे। लड़के के माँ-बाप आरोपियों के सामने खूब गिड़गिड़ाए और रहम की भीक मांगी लेकिन उन लोगो पे इस बात का कोई असर नहीं हुआ उलटे उन दोनों की भी बुरी तरह पिटाई कर दी। 

पुलिस के अनुसार आरोपियों ने बुरी तरह से घायल अनिल को आधी रात के करीब पास के ही एक गन्ने के खेत में फैंक दिया। सुबह अनिल के रिश्तेदारों को वह घायल अवस्था में मिला। उसे पास क सरकारी अस्पताल में भरती कराया लेकिन उस की ख़राब हालत की वजह से उसे B.L.D.E हॉस्पिटल विजयपुरा में शिफ्ट कर दिया। लेकिन उस की हालत  इतनी ख़राब थी के अनिल ने हॉस्पिटल में डैम तोड़ दिया। 

कोई टिप्पणी नहीं :

एक टिप्पणी भेजें