बदायूं: 14 साल की दलित लड़की के साथ गैंगरेप, सपा नेता के बेटे के खिलाफ केस दर्ज

कोई टिप्पणी नहीं
दो चचेरी बहनों की पेड़ से लटकी लाश मिलने के बाद बदनाम हुआ यूपी का बदायूं एक बार फिर चर्चा में है। शनिवार को कादरचौक थाना क्षेत्र के नूरपुर में एक 14 साल की दलित लड़की के साथ गैंगरेप हुआ। स्थानीय सपा नेता के बेटे सहित तीन लोगों पर गैंगरेप का आरोप लगा है। पीड़िता के मेडिकल रिपोर्ट में रेप की पुष्टि हो चुकी है। पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। बाकी दोनों की तलाश की जा रही है।

घटना शनिवार की शाम को हुई। दलित लड़की शौच के लिए खेतों की ओर गई थी। इसी दौरान गांव के ही सपा नेता के बेटे ओमेंद्र ने अपने साथियों के साथ उसको अगवा कर लिया। आरोपी उसे पड़ोसी गांव के जंगल में ले गए, जहां उसके साथ सबने बारी-बारी से रेप किया। इसके बाद उनलोगों ने पीड़िता को एक गांव में छोड़ दिया और फरार हो गए। यहां से पीड़िता किसी तरह अपने ममेरे भाई के घर पहुंची और पूरे मामले की जानकारी दी। उसके भाई ही घरवालों को सूचित किया। परिजन पीड़िता को लेकर थाने पहुंचे। पुलिस ने पीड़िता की तहरीर के आधार पर मुख्य आरोपी सपा नेता के बेटे ओमेंद्र सहित उसके दो दोस्तों नरेंद्र और सुरेंद्र के खिलाफ रेप, एससीएसटी एक्ट और पॉक्सो की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया। पुलिस ने देर रात आरोपी सुरेंद्र को गिरफ्तार भी कर लिया है। सुरेंद्र सपा के पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ का जिला प्रभारी है।

पीड़िता ने पुलिस को बताया, 'मैं रात को शौच के लिए गई थी। रास्ते में ओमेंद्र अपने दोस्त नरेंद्र और सुरेंद्र के साथ आ गए। सबने मुझे पकड़ लिया और जबरन बाइक पर बैठाकर जंगल की ओर ले गए। वहां मेरा रेप किया और एक दूसरे गांव में छोड़कर भाग गए।'

सौमित्र यादव, एसएसपी, बदायूं का कहना है कि सुरेंद्र से पूछताछ की जा रही है। उसके साथियों को भी जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। पीड़िता के मेडिकल में रेप की पुष्टि हो चुकी है। इसकी रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई करेंगे।

कोई टिप्पणी नहीं :

एक टिप्पणी भेजें